पत्र क्या है? | पत्र कितने प्रकार के होते हैं | हिंदी में जानें

पत्र क्या है? | पत्र कितने प्रकार के होते हैं | हिंदी में जानें

नमस्कार दोस्तों इस लेख में आप पत्र क्या है और पत्र कितने प्रकार के होते है इस बारे में जानेंगे दोस्तों पत्र का महत्व वर्तमान में आपको पता नहीं होगा लेकिन जब मोबाइल,लैंडलाइन टेलीफ़ोन का अविष्कार नहीं हुआ था तो उस समय लोग एक दूसरे के बारे में जानने के लिए पत्र का ही इस्तेमाल किया करते थे इसके अलावा कोई सरकारी सुचना भी एक विभाग से दूसरे विभाग में भेजनी होती तो भी पत्र ही माध्यम था। 

प्राचीनकाल के दौरान भी पत्र का प्रयोग होता था जिसमें एक राज्य का राजा अपने संदेश को पत्र में लिखकर दूत के साथ भेजता था। इसके बाद पत्रों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँचाने के लिए सरकार द्धारा डाक विभाग की स्थापना की गयी जिससे आप थोड़ा शुल्क देकर अपने पत्र को अपने परिवार या दोस्त के पास पहुँचा सकते है। इस लेख में आप पत्र क्या है और पत्र कितने प्रकार के होते है इससे संबधित पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे। 

पत्र क्या है?


patra kitne prakar ke hote hain



वर्तमान में आप अपने दोस्त से बात करने के लिए फोन करते है या मैसेज भेजते है उसी प्रकार पुराने जमाने में जब कोई व्यक्ति अपने परिवार से दूर रहता था तो वे कागज पर लिखित भाषा में अपने हालचाल और जरूरी जानकारी को लिखकर डाक के माध्यम अपने परिवार और प्रियजनों को भेजने के लिए इस प्रकार पत्रों का उपयोग करता था। इसके सबसे अच्छा उदाहरण है की प्राचीन काल में भी जब दो राज्यों के राजाओं को चर्चा करनी पड़ती थी तो वे भी पत्र का ही इस्तेमाल किया करते है। 

पत्र आम व्यक्ति के अलावा सरकारी कार्यों में भी काफी काम आता है जैसे आपने कई बार सुना भी होगा की इस राज्य के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री जी को चिट्टी लिखी,इसके अलावा अगर आपकी सरकारी नौकरी लगती है तो भी आपके पास नौकरी शुरू करने के लिए एक पत्र आता है जिसे जोइनिंग लेटर भी कहते है। 

पत्र कितने प्रकार के होते है ?


पत्र दो प्रकार के होते है। 

  1. औपचारिक पत्र 
  2. अनौपचारिक पत्र 


औपचारिक पत्र 


वह पत्र जिसमें आप अपनी बात को स्पष्ट रखते है जैसे अगर आप अवकाश,शिकायत या आवेदन के लिए प्रार्थना पत्र लिखते है या फ़िर किसी सरकारी अधिकारी या सरकारी विभाग को पत्र लिखकर अपने मुद्दों से अवगत करवाते है इसके अलावा अगर आप व्यावसायिक पत्र जैसे किसी कंपनी,व्यापारी और संपादक को किसी उद्देश्य के लिए पत्र लिखते है तो आपको एक निर्धारित पैटर्न और औपचारिकता का पालन करना पड़ता है। 

अनौपचारिक पत्र 


अनौपचारिक पत्र लिखने के लिए किसी प्रकार के पैटर्न और औपचारिकता का पालन नहीं करना पड़ता है लेकिन कुछ महत्वपूर्ण चीजों का ध्यान जरूर रखें,अनौपचारिक पत्र से व्यक्ति अपने संबधी,मित्र या परिवारजनों का हाल चाल के बारे में जानने के लिए करता है और यह दो व्यक्तियों के बीच लिखित बातचीत होती है। 

पत्र कैसे लिखें सही तरीका जानें 


अगर आपको एक अच्छा पत्र लिखने में तकलीफ होती है या आप अपने विचारों को पत्र में अच्छी तरह से व्यक्त नहीं कर पाते तो निम्न चरणों को ध्यानपूर्वक पढे। 

  • औपचारिक हो या अनौपचारिक पत्र आपको सबसे पहले अपना नाम और पता लिखना होता है इससे पत्र की शुरुआत काफी अच्छी तरह से होती है 
  • अब आप जिसे भी पत्र लिख रहे है तो उसे सम्बोधित करें इसके लिए आप उनका नाम मेंशन कर सकते है 
  • अब आपको थोड़े शब्दो पत्र का विषय लिखकर बताए पत्र किस बारे में है 
  • अब अपने पत्र का महवत्पूर्ण हिस्सा यानि संदेश लिखें जो आप उस व्यक्ति को बताना चाहते है उसके बारे में अच्छी शैली और शब्दो का प्रयोग करके लिखें जिससे पत्र प्राप्त करने वाला व्यक्ति आपकी बात आसानी से समझ जाए। 
  • संदेश को पूरा होने के पश्चात आपको पत्र की समाप्ति स्वनिर्देश के साथ अपना नाम थोड़ी सी जानकारी और हस्ताक्षर करने है। 
  • इसी प्रकार आप औपचारिक और अनौपचारिक पत्र लिख सकते है। 

पत्र लिखते समय ध्यान रखने योग्य बातें 


  • पत्र को लिखते समय आप हिंदी या अंग्रेजी जिस भी भाषा का प्रयोग कर रहे है तो उस भाषा की शुद्धता और शैली का प्रयोग करते हुए पत्र लिखें 
  • पत्र में शब्दो का प्रयोग सरलता से करें ताकि पत्र प्राप्त करने वाला व्यक्ति आपकी बात को आसानी से समझ सकें। 
  • पत्र लिखते समय लेखन शैली सुंदर होने से आप पत्र को पढ़ने में काफी आसानी होती है। 



उम्मीद है दोस्तों आपने लेख को पूरा पढ़ा होगा और आपको पत्र क्या है पत्र कितने प्रकार के होते हैं,औपचारिक पत्र कैसे लिखे जाते हैं और हिंदी में पत्र कैसे लिखते हैं इससे संबधित पूरी जानकारी मिली होगी इसके अलावा भी अगर आपको पत्र लेखन से जुडी कोई परेशानी है तो उसे कमेंट बॉक्स में बताए आपको जल्द उसका हल मिलेगा।  

दोस्तों इसी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी अब फेसबुक पर भी उपलब्ध है आपको पास में नजर आ रहे फेसबुक पेज को लाइक और फॉलो करना है और इसके साथ इंस्टग्राम आइकॉन पर क्लिक करके मेरा साथ देना ताकि ऐसी नई नई जानकारियाँ हिंदी में आप तक पहुंचाते रहुँ।

दोस्तों यह लेख संस्कृत में पत्र क्या है पत्र कितने प्रकार के होते हैं जाने अपने सभी दोस्तों और परिवार के साथ इंस्टाग्राम , व्हाट्सप्प और ट्विटर पर शेयर करें ताकि उन्हें भी सारी जानकारी हिंदी में मिल सकें। 



एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने