बालक शब्द रूप जाने हिंदी में | संस्कृत में बालक शब्द रूप

बालक शब्द रूप जाने हिंदी में | संस्कृत में बालक शब्द रूप

नमस्कार दोस्तों इस लेख में आप बालक शब्द के रूप के बारे में जानेंगे दोस्तों बालक शब्द संस्कृत भाषा में वाक्य बनाते समय प्रयुक्त होता है और बालक शब्द से जुड़े कई सवाल परीक्षा में भी पूछे जाते है इसलिए बालक का शब्द रूप संस्कृत के महत्वपूर्ण विषयों में से एक है जिसके बारे में हर छात्र को पता होना चाहिए। संस्कृति भाषा में वाक्य लिखने पर एक शब्द के कई अलग अलग रूप देखने को मिलते है इससे यह भी पता चलता है की एक शब्द के कई रूप हो सकते है। 

इसके अलावा बालक शब्द के साथ शब्द का प्रयोग करने बालिका बनता है जिस कारण बालक शब्द स्त्रीलिंग और पुल्लिंग दोनों में प्रयुक्त होता है। बालक शब्द के अनुरूप ही अकारांत पुल्लिंग संज्ञा और अन्य सभी पुल्लिंग संज्ञा जैसे राम,मानव,ईश्वर,छात्र,भक्त,शिष्य को भी इसी तरह बनाया जाता है बालक शब्द रूप को अच्छे से जानने के लिए लेख को पूरा पढ़ते रहें।

बालक का अर्थ


बालक एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ छोटा बच्चा या शिशु होता है इसके अलावा अंग्रेजी में बालक को चाइल्ड कहते है।
 
 

balak shabd roop in sanskrit


बालक शब्द रूप


निम्न सारणी में बालक शब्द को 7 विभक्तियों और 3 वचन में बताया गया है


विभक्ति

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथमा

बालकः

बालकौ

बालकाः

द्वितीया

बालकम्

बालकौ

बालकान्

तृतीया

बालकेन्

बालकेभ्याम्

बालकै:

चतुर्थी

बालकाय

बालकेभ्याम्

बालकेभ्य:

पंचमी

बालकात्

बालकेभ्याम्

बालकेभ्य:

षष्ठी

बालकस्य

बालकयो:

बालकानाम्

सप्तमी

बालके

बालकयो:

बालकेषु

संबोधन

हे बालक!

हे बालकौ!

हे बालका!



बालक शब्द कारक अनुसार


जब बालक शब्द के साथ कारक प्रयुक्त होता है तो बालक शब्द रूप और उसका अर्थ बदल जाता है साथ ही शब्दो का अनुवाद भी हिंदी भाषा में है जिसे आप निम्न सारणी से आसानी से समझ सकते है।


विभक्ति

कारक

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथमा

कर्ता

बालकः (सु)

बालकौ ()

बालकाः (जस्)

(बालक ने)

(दो बालकों ने)

(बहुत बालकों ने)

द्वितीया

कर्म

बालकम् (अम्)

बालकौ (औट)

बालकान् (शस्)

(बालक को)

(दो बालकों को)

(बहुत बालकों को)

तृतीया

करण

बालकेन (टा)

बालकाभ्याम् (भ्याम्)

बालकैः (भिस्)

(बालक से)

(दो बालकों से)

(बहुत बालकों से)

चतुर्थी

सम्प्रदान

बालकाय (ङे)

बालकाभ्याम् (भ्याम्)

बालकेभ्यः (भ्यस्)

(बालक को, के लिए)

(दो बालकों को, के लिए)

(बहुत बालकों को, के लिए)

पञ्चमी

अपादान

बालकात् (ङसि)

बालकाभ्याम् (भ्याम्)

बालकेभ्यः (भ्यस्)

(बालक से)

(दो बालकों से)

(बहुत बालकों से)

षष्ठी

सम्बन्ध

बालकस्य (ङस्)

बालकयोः (ओस्)

बालकानाम् (आम्)

  (बालक का)

(दो बालकों का)

(बहुत बालकों का)

सप्तमी

अधिकरण

बालके (ङि)

बालकयोः (ओस्)

बालकेषु (सुप्)

  (बालक में, पर)

(दो बालकों में, पर)

(बहुत बालकों में, पर)

प्रथमा

सम्बोधन

हे बालक (सु)

हे बालकौ ()

हे बालकाः (जस्)

  (हे एक बालक!)

(हे दो लड़कों!)

(हे बहुत से लड़कों!)



निष्कर्ष 


उम्मीद है दोस्तों आपने इस लेख को पूरा पढ़ा होगा और आपको बालक के शब्द रूप के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी इससे आप परीक्षा में बालक शब्द रूप से संबधित प्रश्नो का उत्तर आसानी से दे पाएंगे और अच्छे अंक ला सकेंगे।

दोस्तों इसी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी अब फेसबुक पर भी उपलब्ध है आपको पास में नजर आ रहे फेसबुक पेज को लाइक और फॉलो करना है और इसके साथ इंस्टग्राम आइकॉन पर क्लिक करके मेरा साथ देना ताकि ऐसी नई नई जानकारियाँ हिंदी में आप तक पहुंचाते रहुँ।

दोस्तों यह लेख भाववाचक संज्ञा की परिभाषा और उदाहरण जाने हिंदी में अपने सभी दोस्तों और परिवार के साथ इंस्टाग्राम , व्हाट्सप्प और ट्विटर पर शेयर करें ताकि उन्हें भी सारी जानकारी हिंदी में मिल सकें।  






 

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने