संज्ञा किसे कहते है ? | संज्ञा कितने प्रकार की होती है ? | हिंदी में जाने

संज्ञा किसे कहते है ? | संज्ञा कितने प्रकार की होती है ? | हिंदी में जाने

संज्ञा किसे कहते है नमस्कार दोस्तों संज्ञा हिंदी व्याकरण के प्रमुख अध्याय में से एक है जिसके बारे में हर छात्र को पता होना चाहिए क्योंकि संज्ञा का महत्व हिंदी व्याकरण के हर अध्याय में   देखने को मिलता है। भारत में होने वाले हर हिंदी के प्रश्न पत्र में आपको संज्ञा से जुड़े कई सारे सवाल जैसे संज्ञा की परिभाषा,प्रकार और उदाहरण पूछे जाते है साथ ही अगर आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है तो भी आपको संज्ञा के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। 

हिंदी व्याकरण में संज्ञा को सीखना हर छात्र बचपन से ही शुरू कर देता है लेकिन जैसे जैसे वे आगे की कक्षाओं में आता है तो संज्ञा के बारे में इतनी जानकारी नहीं मिलती है जिस कारण उसे प्रतियोगी परीक्षाओं में काफी परेशानी होती है इसलिए इस लेख को पूरा पढ़े आपको संज्ञा किसे कहते है,भाववाचक संज्ञा किसे कहते है,समूहवाचक संज्ञा किसे कहते है,जातिवाचक संज्ञा किसे कहते है,व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते है और द्रव्यवाचक संज्ञा किसे कहते है आदि के बारे में उदाहरण,परिभाषा सहित पूरी जानकारी मिलेगी।

संज्ञा किसे कहते है?

sangya kise kahate hain

किसी वस्तु,व्यक्ति,स्थान,प्राणी,गुण,भाव के नाम का बोध को संज्ञा कहते है संज्ञा के विकारी शब्द है जिसमें परिवर्तन किया जा सकता है जैसे आप किसी स्थान या व्यक्ति के नाम में  परिवर्तन कर सकते है।

उदाहरण :-

  • व्यक्ति :- विराट कोहली,नरेंद्र मोदी,नीरज चोपड़ा आदि
  • प्राणी :- हाथी,मोर,चिड़िया,चूहा आदि
  • वस्तु :- कुर्सी,कंघा,लैपटॉप और डंडा आदि
  • गुण :- सुंदर,ईमानदार,धोखेबाज और चालाक आदि  
  • स्थान :- जयपुर,मुंबई ,दिल्ली और चेन्नई आदि
  • भाव :- दया,करुणा,वीरता,ईर्ष्या और ख़ुशी आदि

संज्ञा कितने प्रकार की होती है ?


सामान्यतः संज्ञा पांच प्रकार की होती जिसमें व्यक्तिवाचक संज्ञा,भाववाचक संज्ञा,व्यक्तिवाचक संज्ञा,द्रव्यवाचक संज्ञा और  द्रव्यवाचक संज्ञा शामिल है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा

वह संज्ञा जिसमें किसी व्यक्ति,वस्तु और स्थान का बोध होता है उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते है इस संज्ञा में व्यक्ति के अलावा किसी स्थान विशेष या वस्तु को भी संदर्भित किया जा सकता है जिसे आप नीचे बताए गए उदाहरणों से समझ सकते है।

जैसे

  • विराट कोहली एक व्यक्ति का नाम है और जब भी विराट कोहली का नाम लेंगे तो आपके दिमाग में एक विशेष व्यक्ति की झलक बन जाएगी जिससे एक विशेष व्यक्ति का बोध होगा और वहाँ पर व्यक्तिवाचक संज्ञा होगी।
  • व्यक्ति विशेष के अलावा आप स्थान विशेष में भी व्यक्तिवाचक संज्ञा देख सकते है जैसे दिल्ली,जयपुर शहर विशेष है इनमें भी व्यक्तिवाचक संज्ञा का बोध होता है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण

  • विराट कोहली भारत के सबसे महान बल्लेबाज है।
  • नरेंद्र मोदी जी दुनियाँ के सबसे लोकप्रिय नेता है
  • राहुल ने कल शतक लगाया।
  • जयपुर को गुलाबी नगरी कहते है।
  • पवन ने कल रामायण देखी।

ऊपर बताए हुए उदारहणो में प्रयुक्त विराट कोहली,नरेंद्र मोदी,जयपुर,रामायण आदि किसी व्यक्ति,स्थान और वस्तु का बोध कराते है जिससे यहाँ पर व्यक्तिवाचक संज्ञा होती है।

जातिवाचक संज्ञा

वह संज्ञा जिसके अंतर्गत किसी व्यक्ति या स्थान विशेष का बोध न कराते हुए उसकी जाति का बोध कराते है वहाँ पर जातिवाचक संज्ञा होती है जैसे हिरण,शेर,चीता,खरगोश अलग अलग नाम से जानते है लेकिन इनकी जाति जानवर है इसी प्रकार जानवर के अंतर्गत सभी जीव आते है इसके अलावा किसी विशेषण शब्द तथा क्रियावाचक शब्द का ओकारान्त बहुवचन भी जातिवाचक संज्ञा के अंतर्गत आता है इसे आप निम्न उदारहण से समझ सकते है।

महिलाएँ घूमने जा रही है

इसके अंतर्गत किसी विशेष महिला का बोध न करते हुए उनकी जाति बोध हुआ है

  • पक्षी पेड़ पर घोसला बना रहे है
  • मानव सबसे पुरानी और बुद्धिमान प्रजाति है
  • यहाँ पर सभी नदियों का संगम होता है
  • यह वस्तुएँ पुरानी हो गयी है

ऊपर बताए हुए उदाहरण में पक्षी,मानव,नदी और वस्तुएँ किसी विशेष व्यक्ति और स्थान का बोध न कराते हुए उनकी जाति का बोध कराती है जिस कारण यहाँ पर जातिवाचक संज्ञा प्रयुक्त होती है।

भाववाचक संज्ञा


वह संज्ञा जिसमें किसी प्राणी,पदार्थ और व्यक्ति के विशेष भावों जैसे गुण,अवस्था और दशा का बोध होता है वहाँ पर भाववाचक संज्ञा होती है।

  • श्याम काफी प्रसन्न लग रहा है
  • इस वाक्य में प्रसन्न व्यक्ति के भाव का बोध कराता है जिस कारण यहाँ पर भाववाचक संज्ञा है।
  • राहुल काफी ईमानदार है।
  • इस वाक्य में ईमानदार व्यक्ति के गुण का बोध करता है इसलिए यहाँ पर भाववाचक संज्ञा है।
  • मनीष फेल होने से दुखी है
  • इस वाक्य में 'दुखी' व्यक्ति की अवस्था का बोध करा रहा है जिस कारण यहाँ भाववाचक संज्ञा है।
 

भाववाचक संज्ञा के अन्य उदाहरण

  • राम को क्रोध अधिक आता है।
  • विराट की बल्लेबाजी देखकर आस्चर्य हो रहा है।
  • शहर का नजारा काफी सुंदर है।
  • वह बचपन से ही क्रिकेट का शौकीन है 


समूहवाचक संज्ञा

वह संज्ञा जिसमें किसी विशेष व्यक्ति या वस्तु का बोध न होकर पुरे दल का बोध होता है वहाँ पर समूहवाचक संज्ञा होती है जैसे दल,कक्षा,सेना,परिवार,पुलिस और भीड़ इसके अच्छे उदाहरण है।

  • यहाँ पर काफी भीड़ है
  • इस वाक्य में 'भीड़' किसी विशेष व्यक्ति का बोध न कराते हुए पूरे समूह का बोध करती है जिस कारण यहाँ समूहवाचक संज्ञा है।

समूहवाचक संज्ञा के अन्य उदाहरण

  • भारतीय सेना दुनियाँ की सबसे ताकतवर सेना है।
  • बीजेपी एक लोकतान्त्रिक दल है।
  • मेरा परिवार काफी बड़ा है।
  • भारतीय टीम दुनियाँ की सबसे अच्छी टीम है।

द्रव्यवाचक संज्ञा


वह संज्ञा जिसमें किसी तरल,ठोस,गैस आदि का बोध होता है उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते है जैसे सोना,चाँदी,पानी,दूध,ऑक्सिजन और हाइड्रोजन में द्रव्यवाचक संज्ञा है।

  • सोना काफी महंगा है
  • इस वाक्य में 'सोना' ठोस होने का बोध होता है जिससे यहाँ द्रव्यवाचक संज्ञा है
  • गाय का दूध पीना काफी अच्छा होता है  
  • इस वाक्य में 'दूध' तरल होने का बोध होता है जिससे यहाँ द्रव्यवाचक संज्ञा है
  • पेड़ पौधों से ऑक्सिजन प्राप्त होती है
  • इस वाक्य में 'ऑक्सिजन' गैस होने का बोध होता है जिससे यहाँ द्रव्यवाचक संज्ञा है

द्रव्यवाचक संज्ञा के अन्य उदाहरण

  • राम चाँदी का बर्तन लेकर आया।
  • भारत पहले सोने की चिड़ियाँ था।
  • सुरेश पानी पीने गया हुआ है
  • इंसानो के जीवन में ऑक्सिजन काफी जरूरी है।

 
उम्मीद है दोस्तों आपने लेख को पूरा पढ़ा होगा और आपको संज्ञा किसे कहते है,भाववाचक संज्ञा किसे कहते है,समूहवाचक संज्ञा किसे कहते है,जातिवाचक संज्ञा किसे कहते है,व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते है और द्रव्यवाचक संज्ञा किसे कहते है आदि के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी। दोस्तों आपको हिंदी व्याकरण को अच्छे से समझना है तो आपको संज्ञा के बारे में पता होना चाहिए जिसके लिए आप लेख को पूरा पढ़ सकते है और किसी भी प्रकार डॉउट है तो कमेंट बॉक्स में बता सकते है।
 
दोस्तों इसी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी अब फेसबुक पर भी उपलब्ध है आपको पास में नजर आ रहे फेसबुक पेज को लाइक और फॉलो करना है और इसके साथ इंस्टग्राम आइकॉन पर क्लिक करके मेरा साथ देना ताकि ऐसी नई नई जानकारियाँ हिंदी में आप तक पहुंचाते रहुँ।

दोस्तों यह लेख ऑनलाइन एअर्निंग कैसे करें के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में अपने सभी दोस्तों और परिवार के साथ इंस्टाग्राम , व्हाट्सप्प और ट्विटर पर शेयर करें ताकि उन्हें भी सारी जानकारी हिंदी में मिल सकें।  

 

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने