Advertisement

शिमला में सोने का भाव - टुडे गोल्ड प्राइस इन शिमला


शिमला में सोने का आज का भाव :- 14 August 2022 :- 52,690\10gm - 24kt/10gm



शिमला बर्फीली पहाड़ियों और प्रकृति के शांत वातावरण में स्तिथ है लेकिन यहाँ के सोने के बाजार में सोने की मांग में कोई कमी या शांति नहीं है। शिमला के लोग भारत के अन्य शहर के लोगों के भाँति सोना खरीदना और पहनना पसंद करते है। शिमला के निवासी ज्यादातर सोना आभूषण के रूप में खरीदते है लेकिन कई लोग सोने की छड़ या बिस्किट खरीदकर अपने जमा करते है। 

यहाँ के लोग सोने में निवेश करना काफी सुरक्षित और लाभदायक मानते है और इसलिए बड़ी मात्रा में सोने की खरीदारी भी करते है। शिमला के बाजारों में हर दिन सोने के भावों में उतार चढ़ाव देखने को मिलता है जिसकी ताजा अपडेट आपको यहाँ पर मिलेगी। PB Marketing(All In Hindi ) पर आपको 22 कैरेट और 24 कैरेट सोने के ताजा भाव की जानकारी मिलेगी। 



आज शिमला में 22 कैरेट और 24 कैरेट सोने के भाव

 

ग्राम

22 कैरेट सोने का भाव

 24 कैरेट सोने का भाव

ग्राम

4830

5269

ग्राम

38,640

42,152

10 ग्राम

48,300       

52,690           

100 ग्राम

4,83,000   

5,26,900




शिमला पिछले 30 दिनों में 10 ग्राम सोने के दाम




 दिनांक

 22 कैरेट सोने का भाव 

 24 कैरेट सोने का भाव 






14 August 2022

48,300

52,690

12 August 2022

47,900

52,240




 

डिजिटल गोल्ड क्या और इसमे कैसे निवेश करें ?


डिजिटल गोल्ड वर्तमान में सबसे पसंदीदा निवेश माना जाता है  जिसे ई गोल्ड भी कहा जाता है,कई प्लेटफार्म जैसे पेटीएम, फ्रीचार्ज, HDFC सिक्योरिटीज और Upstox ने MMTC-PAMP और Safegold के साथ पाटनर्शिप करके यूजर्स को डिजिटल गोल्ड लेने की सुविधा प्रदान की है। MMTC-PAMP और Safegold के वॉलेट में आप 5 साल तक सोने को सुरक्षित रख सकते है। 

डिजिटल गोल्ड कैसे लें ?


  1. सबसे पहले Upstox या Paytm में रजिस्ट्रेशन प्रोसेस को पूरा करें। 
  2. अब आप जीतने भी पैसे का सोना खरीदेंगे उसकी मात्रा वॉलेट में जमा हो जाएगी। 
  3. आप अपने सोने रिडीम करके भौतिक सोना प्राप्त कर सकते है लेकिन इसके लिए आपको मैकिंग और डिलीवरी चार्ज देना होगा। 
  4. अगर आप चाहे तो होल्डिंग में रखें सोने को MMTC-PAMP या Safegold कीओपन सेल विंडो में बेच सकते है और जो भी प्रॉफिट और मूल सोने का पैसा आपके प्लेटफॉर्म अपनी फ़ीस काटकर खाते में जमा कर देगा।  
  5. आप Upstox या पेटीएम किसी अन्य प्लेटफॉर्म के 1 से 1000 ₹ तक का ट्रांजैक्शन कर सकते है  


शिमला में सोने की मांग किस प्रकार है ?


शिमला भारत के ऐसे बाजारों में से जहाँ लगातार सोने की मांग बढ़ती जा रही है और इस मांग को पूरी करने के लिए शिमला में कई छोटे बड़े ज्वैलर है। शिमला के लोग सोने को आभूषण के रूप में खरीदना काफी पसंद करते है और जब भी त्यौहार और शादियों का सीजन आता है तो सोने की मांग काफी बढ़ जाती है जिसका सीधा असर शिमला में सोने की दर पर भी देखने को मिलता है। 

शिमला धार्मिक और सांस्कृतिक प्रवृति का शहर है जिस कारण यहाँ पर सोने की मांग तेज वृद्धि ही देखने को मिलती है कमी कभी कभी ही देखने को मिलती है। शिमला के लोग सोने में निवेश करना भी काफी पसंद करते है इसके लिए वे सोने की नियमित अपडेट जानने के बारे में काफी उत्सुक रहते है। 

शिमला में सोने का भाव किस प्रकार निर्धारित होता है ?


शिमला में सोने के भाव कई कारकों को ध्यान में रखकर निर्धारित होते है जैसे सोने की मांग,ब्याज दर और सरकारी नीतियाँ आदि किसी भी शहर में सोने के भावो को निर्धारित करने में अहम रोल अदा करती है। शिमला में सोने के भावों में तेजी और गिरावट इन्हीं सभी कारकों के अनुकूल और प्रतिकूल होने के कारण देखने को मिलती है। सोने के भावों को प्रभावित करने वाले कारकों को विस्तृत रूप से जानते है। 

सोने की मांग 


किसी भी शहर की सोने की मांग वहाँ सोने के भावों को तय करने में सबसे ज्यादा योगदान निभाती है। जैसे हम सभी को पता है किसी चीज की अगर कमी है और उसकी मांग काफी है तो उसके भाव अपने आप बढ़ जाते है। इसी प्रकार जब त्यौहारों और शादियों के समय सोने की मांग शिमला सहित देश के सभी हिस्सों में काफी बढ़ जाती है। शिमला में सोने को मुख्यतः आभूषण के रूप में खरीदा जाता है। सोना जैसी कीमती धातु की मांग के मुकाबले कमी होना ही सोने के भावों को तेजी से बढ़ाता है। 

ब्याज दर 


अमेरिका और कनाडा जैसे विकसित देशों में कई व्यक्ति अपने सोने को बैंको में रखकर वित्तीय सहायता प्रदान करते है इसी प्रकार कई लोग सोने को विभिन्न रूपों में खरीदकर अपने पास जमा करते है इससे बाजार में सोने की कमी आ जाती है और सोना के भाव काफी बढ़ने लगते है। बैंक सोने के बदलें जो वित्तीय सहायता देती है उसकी ब्याज दर काफी बढ़ जाती है और प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से उससे सोने के भावों पर भी काफी असर देखने को मिलता है। 

सरकारी नीतियाँ 


सरकारी नीतियाँ भी सोने के भावों के तेजी और गिरावट में काफी उत्तरदायी होती है। जब सरकार किसी भी कीमती धातु पर टैक्स लगाती है और अगर वे उसके अनुकूल है तो सोने के भाव काफी हद तक गिर जाते है और जब प्रतिकूल हो तो सोने के भाव काफी बढ़ जाते है। 

अमेरिकी डॉलर में मजबूती 


हम सभी को पता है भारत सोने आयात करता है और सोने का मूल्य डॉलर में होता है और भारत को विदेशों से सोना आयात करने के लिए डॉलर्स में कीमत चुकानी होती है। इसी कारण जब डॉलर महंगा और मजबूत होगा तो भारतीय रुपया कम हो जाएगा और भारत को सोना आयात करने के लिए बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी जिससे सोना महँगा हो जाएगा। अगर वहीं डॉलर के मुकाबले रुपया थोड़ी मजबूती दिखाता है तो सोने के भाव में भी गिरावट देखने को मिलती है। 


मिश्र धातु महंगी होना 


जब हम आभूषण निर्मित करवाते है तो उसमें 22 कैरेट सोने के साथ तांबा , कॉपर आदि धातुएँ भी मिश्रित की जाती है ताकि सोना मजबूत रहे और टूटे नहीं। जब मिश्र धातुएँ महंगी होती है तो सोने के भाव भी बढ़ेंगे। 


शिमला में सोना खरीदने से पहले ध्यान रखने वाली बातें 


शिमला या भारत के किसी भी अन्य शहर में सोना खरीदने से पहले आपको निम्न बातों ध्यान में अवश्य रखना चाहिए। 

  • सबसे पहले आपको सोने के भाव की जानकारी होनी चाहिए और शुद्ध सोना ही खरीदना व उसमें निवेश करना चाहिए। 
  • किसी भी दुकान से सोना खरीदने से पहले आपको शुद्धता का पता करने के लिए BSI का हॉलमार्क अवश्य देखना चाहिए। BSI द्वारा 22K, 18K और 14 K सोने पर हॉलमार्क लगाया जाता है। हालाँकि हॉलमार्क सहित सोना बिना हॉलमार्क के सोने से काफी महंगा हो सकता है। 
  • किसी भी ज्वैलर से सोना खरीदने से पहले आपको उससे मैकिंग चार्ज अवश्य पूछना चाहिए और जहाँ मैकिंग चार्ज कम हो वहाँ से खरीदारी करने पर आपको कीमत में थोड़ी राहत मिल सकती है। 
  • अगर आपको सोने के तोल में संशय होता है तो तीसरे पक्ष के माध्यम से आपको सोना अवश्य तोलना चाहिए। 
  • किसी भी दुकान से सोना खरीदने पर बिल/चालान अवश्य प्राप्त करें।  

22 कैरेट और 24 कैरेट सोने में क्या अंतर् है ?


22 कैरेट और 24 कैरेट सोने के बीच काफी अंतर होता है लेकिन इससे पहले आपको कैरेट का मतलब भी पता होना चाहिए। कैरेट का अर्थ सोने की शुद्धता होता है और आपने कभी कभार किसी से सुना भी होगा 24 कैरेट खरा सोना है। इसका मतलब 24 कैरेट सोने की शुद्धता का अंतिम बिंदु होता है इससे और अधिक सोना शुद्ध नहीं हो सकता है। 

अगर आप किसी प्रकार प्रकार के आभूसण बनवाते है तो वे 22 कैरेट सोने में ही निर्मित होते है और किसी भी प्रकार का निवेश करते है जैसे बिस्किट या छड़ उन्हें 24 कैरेट सोने में निर्मित किया जाता है। सोना भंगुर होता है और 24 कैरेट सोने में आभूष्णों का निर्माण करने पर टूटने का डर रहता है। इसलिए सोने के आभूषण 22 कैरेट में ही बनते है हालाँकि इनमें 24 कैरेट के मुकाबले शुद्धता कम होती है। 

शिमला में 22 कैरेट या 24 कैरेट कौनसा सोना खरीदना चाहिए ?


24 कैरेट हो या 22 कैरेट दोनों सोना ही है लेकिन फर्क है शुद्धता का 24 कैरेट सोने 99.9 शुद्ध सोना होता है तो वहीं 22 कैरेट सोने के अंदर सोने की शुद्ध मात्रा कम होती है और उसके स्थान पर कुछ मात्रा अन्य धातुओं की होती है। अगर आप सोने को आभूषण के रूप में खरीदते है तो इनका निर्माण 22 कैरेट सोने से ही होता है। 

इसके अलावा अगर आप सोने के बिस्किट या छड़ खरीदते है तो वो 24 कैरेट सोने में मिलेगी जिसके अंतर्गत आप निवेश कर सकते है। शिमला में कई छोटे बड़े ज्वैलर है जहाँ आपको 22 कैरेट और 24 कैरेट दोनों प्रकार सोने मिल जाएँगे। 


शिमला में सोने में निवेश कैसे करें ?


शिमला में आप निम्न तीन प्रकार से सोने में निवेश कर सकते है जिससे आप एक अच्छी राशि अर्जित कर सकते है। 

  • आभूषण खरीदें :- भारत में किसी भी व्यक्ति की आभूषण खरीदने की तीव्र इच्छा होती है इसका मुख्य कारण सदियों से चली आ रही सोने के आभूषणों को खरीदने की परंपरा है। भारत में त्यौहारों और शादियों के दौरान बड़ी मात्रा में सोने की खरीदारी होती है जो एक अच्छा निवेश भी माना जाता है। 
  • सोने के बिस्किट या छड़ :- सोने के आभूषण खरीदने पर मैकिंग चार्ज लगता जिससे पैसे काफी लगते है लेकिन सोने को बिस्किट और छड़ के रूप में खरीदने पर मैकिंग चार्ज की बचत होती है और इसे लंबे समय तक अपने पास रख सकते है। 
  • डिजिटल गोल्ड :- वर्तमान में डिजिटल रूप से गोल्ड में निवेश करना हर कोई पसंद कर रहा है और बढ़ती तकनीकी सुविधाओं ने इसे काफी आसान भी बना दिया है। आज इंटरनेट पर पेटीएम ,Upstox और म्यूच्यूअल फंड जैसे कई माध्यम उपलब्ध जहाँ से आप डिजिटली रूप से सोने में निवेश कर सकते है। डिजिटल गोल्ड में निवेश करने की पूरी जानकारी आप ऊपर पढ सकते है। 


शिमला में सोने में निवेश करने के लिए आवश्यक दस्तावेज 


  • अगर आप 2 लाख से अधिक रुपए का निवेश सोने में करना चाहते है तो आपके पास पैन कार्ड होना जरूर है। 
  • गोल्ड ईटीएफ (इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडेड फंड) के माध्यम से सोने में निवेश करने के लिए आपको ब्रोकरेज खाता और ईटीएफ विक्रेता में एक डीमैट अकाउंट खोलना होगा। 
  • SGB ​​(सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड) और डिजिटल गोल्ड में निवेश करने के लिए आपको डीमैट खाते की आवश्यकता नहीं होगी साथ ही आपको कागजात भी कम देने होंगे। 
  • Upstox और म्यूच्यूअल फण्ड जैसे ब्रोकर्स के अंदर आपको एक डीमैट अकाउंट बनाना होगा। 

शिमला में पुराने सोने का क्या करें ?


यदि आपके पास पुराना और अप्रयुक्त सोना है और अब आप इसे अपने पास नहीं रखना चाहते है या कारण वश आपको पैसो की आवश्यकता है। इसके लिए आप अपने सोने को अपने जान पहचान के या किसी भी ज्वैलर से बेच सकते है और तुरंत नकद कैश प्राप्त कर सकते है। 

इसके अलावा वर्तमान में कई बैंक और कंपनिया है जो गोल्ड लोन प्रदान करती है आप मुसीबत के समय कंपनियों से गोल्ड लोन ले सकते है यह आपको ज्वैलर की तुलना में रेट भी अच्छा प्रदान करती है। यदि आप पुराने सोने को नए सोने में तब्दील करवाना चाहते है तो आप ज्वैलर से सम्पर्क करके पुराने सोने के बदले नए आभूषण बनवा सकते है। 


हॉलमार्क व केडियम में क्या अंतर है ?


शिमला में केडीएम और हॉलमार्क दोनों प्रकार के सोने उपलब्ध जिनकी खरीदारी आप कर सकते है। केडीएम और हॉलमार्क वाले सोने निम्न अंतर है जो आपको अवश्य पता होने चाहिए। 

हॉलमार्क :- हॉलमार्क सोना वे सोना होता है जिसे भारतीय मानक ब्यूरो द्धारा शुद्ध होने के प्रमाण दिया जाता है और इस सोने BSI का हॉलमार्क भी बना होता है। 

केडियम सोना :- यह सोना 92% सोने और 8% केडियम का मिश्रण होता है। सोने के साथ मिश्रित धातुएँ से निर्मित ज्वैलरी की डिजाइन को केडियम कहा जाता है। 

शिमला में गोल्ड लोन कैसे लें ?


भारत के हर शहर में गोल्ड इंश्योरेंस कंपनिया है उसी प्रकार शिमला में भी आपको कई न कई गोल्ड इंश्योरेंस कंपनी मिल जाएगी जहाँ से आप गोल्ड लोन ले सकते है। गोल्ड लोन लेना इतना मुश्किल क्यूँकि इसमें आपको अपना सोना जमा करना पड़ता है। 

गोल्ड लोन लेने से पहले अपने आय के स्रोतों को ध्यान में अवश्य रखें क्यूँकि अगर आप गोल्ड को निश्चित की गयी अवधि में नहीं लौटा पाए तो शायद आपको अपना सोना भूलना पड़ेगा। गोल्ड इंश्योरेंस कंपनिया या बैंक लगभग 11 महीने तक लोन प्रदान करती है और इसके पश्चात लोन पूरा न होने पर वे आपका सोना जब्त कर लेती है। 



Disclaimer:-  https://www.pbmarketing.co.in पर दिखाए सोने के भाव आपको सिर्फ सोने के बाजार के दामों से अवगत करने के लिए दिखाए गए है और कोई गारंटी नहीं है की सोने के भाव  एकदम सही है हालाँकि  https://www.pbmarketing.co.in का पूरा प्रयास है की आपको सही दाम का पता चले। लेकिन यह आपको किसी भी प्रकार से खरीदने या बेचने के लिए प्रेरित नहीं करते है और इस कारण होने वाली किसी भी हानि या क्षति का जवाबदेह नहीं है यह भाव आपको सिर्फ सुचना के रूप में बताये गए है। इसलिए सही भाव जानने के लिए अपने नजदीकी ज्वैलर से संपर्क करें वहाँ से आपको टैक्स और मैकिंग चार्ज के साथ सोने के भाव की जानकारी मिलेगी। धन्यवाद 






एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ