नए सोने के भाव 1 जून 2021 को अपडेट होंगे

10/recent/ticker-posts

R.T.O क्या है और कैसे बने - पूरी जानकारी हिंदी में


 भारत में सरकारी नौकरी के लिए कई बड़े पद है जिनमें से एक है RTO Officer की पोस्ट। RTO की Full Form Regional Transport Office और हिंदी में RTO का पूरा नाम क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय होता है। दोस्तों भारत में हर छात्र सरकारी जॉब पाना जाता है और उसमे से एक RTO Officer की जॉब भी है। अगर आप भी RTO बनना चाहते है तो इस लेख पूरा पढ़े। 

भारत में किसी भी सरकारी जॉब के लिए वर्तमान में काफी प्रतिस्पर्धा हो चुकी है और यह भी मान सकते है की बिना कठिन मेहनत और अच्छी सरकारी जॉब पाना नाममुमक़िन सा चूका है। इसलिए भारत में बेरोजगारों की संख्या काफी बढ़ चूकि है , अगर आप RTO पद पर नौकरी करना चाहते है और अच्छी सैलरी पाना चाहते है तो इस लेख  R.T.O कैसे बने  को अच्छी तरह से पढ़े। यहाँ पर आपको RTO बनने के लिए योग्यता, आयु, कार्य, सैलरी आदि के बारे में सही मार्गदर्शन मिलेगा। 

:-------- पढ़ाई में मन कैसे लगाए

R.T.O क्या है 

R.T.O-kaise-bane


मोटर वाहन विभाग की स्थापना मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 213 (1 ) के तहत किसी भी राज्य और शहर के परिवहन संबंधी कार्य और गतिविधियों को संभालने वाले पद अधिकारी को  R.T.O  Officer के नाम से जाना जाता है। 

R.T.O के पास क्षेत्र के वाहनों और ड्राइवरों का पूरा डाटाबेस होता है , इसके अलावा परिवहन विभाग के नए नियमों को भी R.T.O अपने क्षेत्र में लागू करता है। इस प्रकार R.T.O किसी भी क्षेत्र में वाहन संबधित कार्यो को करने के लिए प्रमुख माना जाता है। 


R.T.O कैसे बने?

R.T.O भारत सरकार के परिवहन मंत्रालय में क्षेत्रीय अधिकारी होता है। इस पद पर नौकरी पाना आसान नहीं है इसके लिए Eligibliti को पूरा करना होता है। R.T.O के लिए कोई भी एग्जाम नहीं होता है इसके लिए छात्रों को पहले IMV की पोस्ट पर जॉब करनी होती है। इसके पश्चात अच्छे कार्यों और अनुभव के कारण तब्दीली करके R.T.O की पोस्ट  प्रमोशन  जाता है। R.T.O बनने के व्यक्ति की निम्न प्रकार से योग्यता होनी चाहिए। 

:------ राजस्थान के लोकदेवता

Age  ( आयु )

R.T.O बनने के लिए व्यक्ति की आयु 21 वर्ष से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए लेकिन अगर आप OBC वर्ग से आते है तो आपको 3 साल की और SC / ST में 5 साल की छूट होती है। 


शैक्षिक योग्यता 

कोई महिला और पुरुष जिन्होंने 10 वी पास कर ली है वे R.T.O के पद पर आसानी से आवेदन कर सकता है। इसके ऊपरी पद पर Job करने के लिए आपको मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन डिग्री की आवश्यकता होगी। 

R.T.O Officer पद के लिए चयन प्रक्रिया 

R.T.O के लिए पढ़ने योग्य आपको निम्न प्रकार के Syllabus को पढ़कर तैयारी कर सकते है। इससे आप अन्य कई Exam को भी टारगेट कर सकते है। 

  • सामान्य जानकारी 
  • सामान्य राज्य भाषा 
  • सामान्य अंग्रेजी 
  • सामान्य विषयों 

R.T.O बनने के लिए छात्र को लिखित और साक्षात्कार देना होता है इसके अलावा शारीरिक परीक्षण व मेडिकल जाँच की आवश्यकता होती है। R.T.O बनने की पूरी प्रक्रिया को जानते है।  


लिखित परीक्षा 

R.T.O officer बनने के लिए सबसे पहले छात्र को लिखित परीक्षा देनी होती है। इसमें 200 अंको के कुल 20 प्रश्न पूछे जाते है जिनके जवाब 2 घंटे के अंदर देने होते है। R.T.O की लिखित परीक्षा में निम्न विषय के सवाल पूछे जाते है। 


  • राष्ट्रीय व अंतरास्ट्रीय वर्तमान घटनाक्रम 
  • भारत का इतिहास 
  • भारत की भौगोलिक दशा 
  • आर्थिक और सामाजिक विकास 
  • पर्यावरण और पारिस्थतिकी 
  • सामान्य विज्ञान
  • सामान्य अंग्रेजी 

अपने क्षेत्र के बारे में सामान्य जानकारी भी जरूर रखे। 

:------- भारत के राज्य और राजधानियाँ

शारीरिक परीक्षण (Physical Test )

जब प्रतियोगी लिखित परीक्षा को पास कर लेता है उसके  पश्चात उसका  शारीरिक परीक्षण जिससे उसकी शारीरिक क्षमता का आकलन होता है। शारीरिक परीक्षण का मानक रक्षा क्षेत्र में इससे पूरी तरह अलग होता है। RTO के शारीरिक परीक्षण में पुरुषों की सीने की लम्बाई और दौड़ को देखा जाता है इसके विपरीत महिलाओ को इसमें छूट होती है। अगर यहाँ पर प्रतियोगी इन मापदंडो को पूरा करने में विफल होता है तो प्रशिक्षक उसे अयोग्य घोषित कर सकता है। इस प्रकार जब प्रतियोगी शारीरिक परीक्षण को पास कर लेता है तो उसका मेडिकल परीक्षण होता है। 


मेडिकल परीक्षण 

मेडिकल परीक्षण के अंतर्गत प्रतियोगी के शारीरिक भागों जैसे अंगूठो में हेलिक्स, हड्डियों में कहीं असमानता , उभरे और स्वस्थ मसल्स , अच्छी तरह कानों से सुनाई दे सकें , आँखों के नीचे blackspots और आँखों से अच्छी तरह से देखने की क्षमता हो। 

इस प्रकार पूरी तरह स्वास्थ्य क्षमता को देखा जाता है। मेडिकल परीक्षण वहाँ पर उपस्थित डॉक्टर करते है जिसके पश्चात उसके पूरे स्वास्थ्य के मानक अंको को डॉक्टर द्वारा देखा जाता है अगर प्रतियोगी यहाँ पर सफल होता है तो ही आगे के लिए क्वालीफाई कर पाता है। 

साक्षात्कार 

जब प्रतियोगी शारीरिक परीक्षण , मेडिकल परीक्षण और लिखित परीक्षा पास कर लेता है तो फिर उसे साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। साक्षात्कार किसी भी सरकारी नौकरी का अन्तिम पड़ाव होता है जिसके पश्चात आपको सीधी नौकरी ज्वाइन करनी होती है। 

साक्षात्कार में प्रतियोगी की मानसिकता , स्वभाव और बोलचाल के नजरिये को देखा जाता है। इसके अलावा प्रतियोगी की नौकरी के प्रति रूचि , गंभीरता और कार्य करने की क्षमता के आधार पर उसका चयन किया जाता है। साक्षात्कार के दौरान जाते समय अच्छी तरह से तैयार होकर जाए ताकि आप आसानी से सफल हो सकें। 

अब आप सोच रहे होंगे की R.T.O बनने के लिए इतनी मेहनत करनी है तो सैलरी कितनी मिलेगी। 

सैलेरी 

दोस्तों भारत में किसी भी काम से पहले लोग उस जॉब की सैलरी को देखते है इसलिए कई लोग उस नौकरी को करना भी पसंद करते है। R.T.O Officer को 20000 से 40000 तक की सम्मानजनक सैलरी मिलती है लेकिन इसके अलावा रैंक के आधार पर भी सैलरी मिलती है। अगर आप भी इस सैलरी को पाना चाहते है तो आपको अच्छी तरह फोकस रखते हुए पढ़ाई करनी पड़ेगी। 

:----- पायलट कैसे बने

R.T.O के कार्य 

  • दोस्तों R.T.O Officer बनने के पश्चात उसके कार्य भी आपको पता होने चाहिए , आप नीचे R.T.O Officer के कार्य जानेंगे। 
  • किसी वाहन को चलाने के लिए उसके लाइसेंस की आवश्यकता होती है और इन लाइसेंस को R.T.O ही बना सकता है। 
  • जिस व्यक्ति का ड्राइविंग लाइसेंस बनाना हो R.T.O पहले उसके वाहन को चलाने की स्किल को देखता है। 
  • R.T.O अपने क्षेत्र के किसी भी नए वाहन का Registration करता है बिना रजिस्ट्रेशन के वाहन चलाना गैरकानूनी होता है।इसलिए आप भी अपना वाहन बिना Number Plate के न चलाए। 

Pollution Test 

दिल्ली , मुंबई के अलावा भारत के सभी महानगरों में वाहनों का Pollution Test होता है। क्यूँकि बड़े शहरो में हमने देखा की प्रदूषण कितना बढ़ा है और इस कारण अत्यधिक पुरानी व प्रदूषण लेवल को बढ़ाने वाले वाहनों को R.T.O द्वारा रद्द कर दिया जाता है। 

Insurance 

अगर किसी व्यक्ति को अपने वाहन का बीमा और चालान तो वे R.T.O Office जाता है जहाँ पर R.T.O वाहन का Insurance करता है , इससे कभी भी दुर्घटना होने पर वाहन की क्षतिपूर्ति आसानी से हो सकती है। 


R.T.O की पोस्ट 3 प्रकार की होती है 

  1. Clerical Or Clerk
  2. (Sub) Assistant Engineer Post
  3. Judicial Post

इन पदों की सैलरी भी पोस्ट के अनुसार ही होती है।   


दोस्तों आपको इनमें से किस पोस्ट पर जॉब करनी है यह आपको तय करना है मै उम्मीद करता हूँ की आपको यह लेख  R.T.O कैसे बने  पसंद आया होगा और आपको काफी कुछ सीखने को मिला होगा। भारत में सरकारी नौकरी लगना अब मेहनत नहीं सिर्फ किस्मत का खेल है इसलिए आपसे कहता हूँ अगर आप नौकरी नहीं करना चाहते है और अपना खुद का Online Bussiness करना चाहते है तो मुझे इंस्टाग्राम पर मैसेज करें। 


अगर आपको लगता है आपको इस लेख R.T.O क्या है और कैसे बने में कुछ सिखने को मिला है तो आप इसे सभी सोशल मीडिया नेटवर्क जैसे व्हाट्सप ,फेसबुक और इंस्टाग्राम पर शेयर कर सकते है।


:-------- DIGITAL MARKETING से पैसे कैसे कमाएं

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ